मुख्यमंत्री ने रिम्स में प्लाज्मा बैंकिंग प्रणाली का शुभारंभ किया

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में झारखंड ने एक और ऐतिहासिक कदम आगे बढ़ाया है। कोविड-19 से स्वस्थ हो चुके लोगों के प्लाज्मा का इस्तेमाल अब अन्य कोरोना संक्रमितों के इलाज में किया जाएगा, ताकि उनकी जान बचाई जा सके।

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में झारखंड ने एक और ऐतिहासिक कदम आगे बढ़ाया है। कोविड-19 से स्वस्थ हो चुके लोगों के प्लाज्मा का इस्तेमाल अब अन्य कोरोना संक्रमितों के इलाज में किया जाएगा, ताकि उनकी जान बचाई जा सके। इसके लिए प्लाज्मा थेरेपी तकनीक का उपयोग शुरू किया जा रहा है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज रिम्स के ब्लड बैंक में प्लाज्मा बैंकिंग प्रणाली का शुभारंभ करते हुए ये बातें कहीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां विधिवत रूप से प्लाज्मा एकत्रित करने का कार्य प्रारंभ हो चुका है और इसे अन्य मेडिकल कॉलेजों तथा अस्पतालों में भी शुरू करने की योजना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्लाज्मा दान की गति को तेज करने के लिए सरकार सभी समुचित कदम उठाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का संक्रमण बहुत तेजी के साथ बढ़ रहा है। अभी तक इसके इलाज के लिए कोई कारगर दवाई और वैक्सीन नहीं आई है। ऐसे में प्लाज्मा थेरेपी का कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार में इस्तेमाल कारगर होता दिखाई दे रहा है। देश के कई राज्यों में इस तकनीक से कोविड के मरीजों का इलाज हो रहा है। इसी वजह से सरकार ने भी राज्य में इसका इस्तेमाल करने का निर्णय लिया है। इसी कड़ी में स्वस्थ हो चुके कोरोना मरीजों का प्लाज्मा एकत्रित किया जा रहा है, ताकि जरूरत पड़ने पर उसका इस्तेमाल किया जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्लाज्मा दान बैंकिंग प्रणाली के शुभारंभ के मौके पर चार वैसे डोनर अपना प्लाज्मा दान करने के लिए सामने आए हैं, जो कोविड-19 से स्वस्थ हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्लाज्मा दान के लिए जो चार नवयुवक सामने आए हैं, वह साहसिक और सामाजिक सद्भाव का परिचायक है। इनके प्लाज्मा से कोरोना संक्रमितों की जान बचाई जा सकेगी। मुख्यमंत्री ने इन चारों डोनर से मुलाकात कर उन्हें प्लाज्मा दान का पुण्य काम हेतु धन्यवाद दिया।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Agenda

August 2020
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31  
RANCHI WEATHER