बदहाल होती सड़कें और खामोश बनी सरकार – डॉ लुइस मरांडी

भाजपा नेत्री सह पूर्व मंत्री डॉ लुइस मरांडी ने एक प्रेस बयान जारी कर कहा कि दुमका जिले की पहचान बेहतर सड़कें हुआ करती थी और बिहार-बंगाल से आनेजाने वालों को यहां की बेहतर सड़क व्यवस्था की सुखद अनुभूति होती थी।

भाजपा नेत्री सह पूर्व मंत्री डॉ लुइस मरांडी ने एक प्रेस बयान जारी कर कहा कि दुमका जिले की पहचान बेहतर सड़कें हुआ करती थी और बिहार-बंगाल से आनेजाने वालों को यहां की बेहतर सड़क व्यवस्था की सुखद अनुभूति होती थी। लेकिन पिछले कुछ महीनों में राज्य सरकार और पथ निर्माण विभाग की अदूरदर्शिता के कारण एक के बाद एक सड़के खराब होती जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि दुमका-भागलपुर रोड पर भुरभुरी नदी पर क्षतिग्रस्त हुए पुल पर अब तक डायवर्सन न बनना तथा क्षतिग्रस्त पुल की मरम्मति अथवा नवनिर्माण की अब तक किसी तरह का पहल नहीं होना दुर्भाग्यपूर्ण है। खराब सड़क के कारण जनता त्रस्त है। भुरभुरी पुल को बंद किये जाने से गुहियाजोरी-रामगढ़ रोड बदहाल हो चुकी है। सड़कों की मरम्मति कराने के लिए किसी तरह की पहल करने की वजाय बैरियर लगाकर वाहनों का परिचालन बंद कराकर शासन-प्रशासन अपनी विफलता को छिपाने में लगी है। भुरभुरी पुल न बनने से वाहनों के दवाब बढ़ने से नेशनल हाहवे 114 ए पर भी बुरा असर पड़ रहा है। सरडीहा-नोनीहाट सड़क भी अपना अस्तित्व खो चुकी है।

उन्होंने कहा कि दुमका को अपनी राजनीतिक कर्मभूमि बताने वाले हेमंत सोरेन ने मुख्यमंत्री बनकर इस सीट को छोड़कर यह दर्शा दिया है कि दुमका इलाके को वे केवल चुनाव के लिए कर्मभूमि मानते हैं। जनसेवा-राजनीतिक सेवा के लिए नहीं। अगर उनको जनता के दुख-दर्द और तकलीफ का अहसास हुआ होता, तो सड़कों की आज इतनी भयावह स्थिति नहीं होती। डॉ लुइस मरांडी ने सरकार से कहा कि जल्द ही सड़क का निर्माण करवाया जाए ताकि आम जनता को जर्जर सड़क से राहत मिल सके।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

सीएम हेमंत सोरेन को मिली जान से मारने की धमकी

Fri Jul 17 , 2020
झारखंड में बढ़ रहे अपराधियों की हिम्मत का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि अपराधी अब सीधे राज्य के मुखिया को धमकी देने से भी बाज नहीं आ रहे हैं।

Agenda

October 2021
M T W T F S S
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
RANCHI WEATHER