झारखंड में पूर्ण लॉकडाउन की खबर अफवाह, सरकार ने किया खारिज

झारखंड में 15 जुलाई से संपूर्ण लॉकडाउन की खबरों पर राज्य सरकार ने स्थिति साफ़ करते हुए ऐसे किसी लॉकडाउन से साफ़ इंकार किया है।

झारखंड में 15 जुलाई से संपूर्ण लॉकडाउन की खबरों पर राज्य सरकार ने स्थिति साफ़ करते हुए ऐसे किसी लॉकडाउन से साफ़ इंकार किया है। बता दें कि इससे पहले भी कई बार सोशल मीडिया के माध्यम से लॉक डाउन की खबरे अफवाह के तौर पर आई है जिसे सरकार ने खारिज किया है।

कोरोना संक्रमण के दौरान लगातार देश और राज्य के विभिन्न क्षेत्र से अफवाहें आती रहती है। इस बार भी 15 जुलाई 2020 से झारखंड में लॉक डाउन की खबरें आई। जिसे राज्य सरकार में वित्तमंत्री रामेश्वर उरांव ने सरकार के तरफ से कहा कि 15 जुलाई से टोटल लॉकडाउन की खबर अफवाह मात्र है।

रामेश्वर उरांव ने साफ कहा कि जरुरत पड़ी तो जिन क्षेत्रों में संक्रमण तेजी से फैल रहा है, वहां सख्ती बढ़ाई जा सकती है। मसलन मास्क ना पहनने, सामाजिक दूरी का पालन नहीं करने पर दंड बढ़ाया जा सकता है। मगर फिलहाल लॉकडाउन जैसी कोई योजना राज्य सरकार की नहीं है।उल्लेखनीय है कि बीते कुछ दिनों से व्हाट्सप्प के जरिये एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा था। जिसमे 15 जुलाई से झारखंड में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की बात कही गयी थी।

वायरल मैसेज में दावा किया गया था कि राज्य सरकार ने 15 जुलाई से संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला कर लिया है। इस बीच एक दैनिक अखबार ने भी “48 घंटे में कम्पलीट लॉकडाउन!” शीर्षक के जरिये वित्तमंत्री का एक पक्ष पेश करने की कोशिश की थी। जिसमे वित्तमंत्री रामेश्वर उरांव ने उन क्षेत्रों में सख्ती बढ़ाने के संकेत दिए थे। राज्य सरकार ने साफ कह दिया है की 15 जुलाई से लॉकडाउन की खबरे केवल अफवाह है। राज्य के लोगो को ऐसी खबरों से आशंकित होने की कोई जरुरत नहीं है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मुश्किल में रिम्स के 48 पैरामेडिकल स्टाफ, 14 जुलाई 2020 को समाप्त हो रहा है इनका कार्यकाल

Tue Jul 14 , 2020
झारखंड के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स के पैरामेडिकल स्टाफ इनदिनों मुश्किल में है। कोरोना काल के वैश्विक संकट के समय पैरामेडिकल स्टाफ ने दिन रात काम किया, बावजूद इसके अब सभी स्टाफ के ऊपर बेरोजगारी का खतरा मंडरा रहा है।

Agenda

July 2021
M T W T F S S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  
RANCHI WEATHER